इंट्रानेट क्या है What Is Intranet In Hindi

इंट्रानेट क्या है What Is Intranet In Hindi

इंट्रानेट (Intranet) एक सुरक्षित निजी नेटवर्क है जो इंटरनेट प्रोटोकोल तकनीकी का इस्तेमाल करता है और केवल उस संगठन के कर्मचारियों के लिए ही सुलभ होता है। आमतौर पर संगठन के आंतरिक आईटी सिस्टम से जानकारी और सेवाओं की एक विस्तृत श्रृंखला संगठन के कर्मचारियों के लिए उपलब्ध होती है एवं ये इन्टरनेट से आम जनता के लिए उपलब्ध नहीं होता है।  
एक इंट्रानेट वेबसाइट किसी भी अन्य वेबसाइटों की तरह काम करते हैं, लेकिन एक इंट्रानेट के आसपास के फ़ायरवॉल (Firewall) अनाधिकृत उपयोग को बंद कर देता है।

इन्टरनेट बनाम इंट्रानेट Internet Versus Intranet In Hindi-

इन्टरनेट वैश्विक (Global) वर्ल्ड वाइड वेब है, जबकि इंट्रानेट एक कंपनी का निजी इन्टरनेट है। जिसे सिर्फ कंपनी के अन्दर इस्तेमाल किया जा सकता है। दोनों TCP/ IP Protocol को उपयोग में लेते हैं। साथ ही में ईमेल और अन्य वर्ल्ड वाइड वेब मानक का इस्तेमाल करते है। दोनों में मुख्य फर्क यह है कि इंट्रानेट का यूजर इन्टरनेट पर जा सकता है। लेकिन सुरक्षा कारणों जैसे कंप्यूटर Firewalls के कारण इन्टरनेट यूजर इंट्रानेट पर नहीं जा सकता हैं। इंट्रानेट बिना इन्टरनेट कनेक्शन के भी चल सकता है।
इन्टरनेट, अधिक व्यापक एक बड़ी आबादी में फैला है, सभी वेब आधारित सेवाओं के लिए बेहतर पहुँच प्रदान करता है और इस प्रकार, बहुत से उपयोगकर्ता के अनुकूल है। इंट्रानेट अधिक सुरक्षित और सुरक्षित निजीकृत इन्टरनेट का एक संस्करण है।  

इंट्रानेट सॉफ्टवेयर के दो पोर्टल होते हैं-

1.   इंट्रानेट पोर्टल Intranet Portal इंट्रानेट पोर्टल का उपयोग किसी संस्था की आंतरिक डाटा को संयोजित करने के लिए किया जाता है। संस्था की एंटरप्राइज सूचना को सभी कंप्यूटरों तक भेजने के लिए भी इंट्रानेट पोर्टल का इस्तेमाल किया जाता है।
2.   एंटरप्राइज पोर्टल Enterprise Portal एंटरप्राइज पोर्टल को एंटरप्राइज इन्फॉर्मेशन पोर्टल (EIP) के नाम से भी जानते है। संस्थान से बाहर सूचना भेजने के लिए ईपीआई का इस्तेमाल होता है। जिसमे एक सिक्योर एक्सेस पॉइंट होता है जिससे संस्था के डाटा को कोई भी कॉपी पेस्ट नहीं कर सके इसको वेब आधारित यूजर इंटरफेस भी कहते है।  

Difference Between Intranet And Internet In Hindi इंट्रानेट और इंटरनेट में अंतर –

इंट्रानेट में सीमित संख्या में सर्वर होते हैं जबकि इन्टरनेट पर हजारों की संख्या में सर्वर कार्यरत हैं।इंट्रानेट में डाटा निश्चित रूप से सुरक्षित होता है जबकि इन्टरनेट पर डाटा अधिक सुरक्षित नहीं रहता हैं क्योंकि बहुत बार डाटा चोरी हो जाता है।
Intranet मुख्य रूप से लोकल एरिया नेटवर्क (LAN) से मिलकर बनता हैं जबकि इन्टरनेट बहुत सारे नेटवर्कों का नेटवर्क हैं जिसमे अनेक नेटवर्कों (LAN, WAN, MAN) को मिलाकर एक Network बनाया जाता हैं।इंट्रानेट में सीमित लोगों को ही इस नेटवर्क का उपयोग करने की अनुमति होती हैं जबकि इन्टरनेट का कोई भी व्यक्ति इस्तेमाल कर सकता हैं।
इंट्रानेट पर किसी साईट को अपलोड करने के लिए वेब स्पेस की जरूरत नहीं होती है क्योंकि उसमे काम आने वाले सर्वर से ही काम चल जाता हैं। जबकि इंटरनेट पर किसी साइट को चलाने के लिए सबसे पहले इस साइट को वेब सर्वर पर अपलोड करने के लिए वेब स्पेस की जरूरत होती है। इसलिए अलग-अलग सर्वर की सेवाएँ ली जाती हैं। 
इंट्रानेट एक निजी नेटवर्क हैं जबकि इन्टरनेट एक सार्वजनिक नेटवर्क हैं।

दोस्तों आपको इंट्रानेट क्या हैWhat Is Intranet In Hindi में जाना कि इंट्रानेट क्या है और इन्टरनेट व इंट्रानेट में क्या अंतर हैं।     

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *