तापमापी या थर्मामीटर का आविष्कार और जानकारी Thermometer Invention In Hindi

तापमापी या थर्मामीटर का आविष्कार और जानकारी Thermometer Invention in Hindi-

दोस्तों, तापमापी या थर्मामीटर का आविष्कार और जानकारी Thermometer Invention in Hindi में हम जानेंगे की थर्मामीटर क्या है और इसका आविष्कार कैसे हुआ। थर्मामीटर, एक बंद मुँह की कांच की ट्यूब से बना तापमान मापने का उपकरण है। नली का एक सिरा घुंडी या बल्ब के रूप में होता है, जिसमें पारा भरा होता है। 

तापमापी या थर्मामीटर की जानकारी Thermometer Information in Hindi-

थर्मामीटर का नाम ग्रीक शब्द ‘थर्मस’ का अर्थ गर्म और ‘मेट्रोन’ का अर्थ उपाय से लिया गया हैं। तापमापी या थर्मामीटर का उपयोग कर किसी भी पदार्थ के तापमान को माप सकते हैं।
थर्मामीटर में तापमान के कारण पारे की मात्रा के विस्तार को पैमाने पर मापकर तापमान का पता लगाया जाता है। 
थर्मामीटर में तापमान को सेल्सियस पैमाना, केल्विन पैमाना और फारेनहाइट में मापा जाता हैं।
तापमान की माप के लिए पैमाने के अनुसार तापमापी (Thermometer) अनेक प्रकार के होते हैं, जिनमें सेल्सियस, फारेनहाइट और रियुमर तापमापी प्रमुख हैं।
सबसे ज्यादा उपयोग सेल्सियस और फारेनहाइट तापमापी का होता हैं।
तापमापी का निम्नतम अंक हिमांक और उच्चतम अंक क्वथनांक को दर्शाता हैं।
सेल्सियस तापमापी में 00 से 1000 डिग्री C तक, फारेनहाइट तापमापी में 320 से 2120 तक और रियुमर तापमापी में 00 से 800 तक मान अंकित होते हैं।
सेल्सियस, फारेनहाइट और रियुमर तापमापी के तापमानों की तुलना के लिए सूत्र –
F-32/180 = C/100 = R/80जिसमे F = 0 Fahrenheit, C = 0 Centigrade या Celsius और  R = 0 Reaumer हैं।

तापमापी या थर्मामीटर का आविष्कार Thermometer Invention in Hindi-

दोस्तों, थर्मामीटर के आविष्कार और निर्माण में अनेक वैज्ञानिकों ने खोज कार्य किया था।
अलेक्जेंड्रिया के ‘हीरो’ ने पता लगाया था कि पदार्थ विस्तार व अनुबंधित कर सकते हैं क्योंकि पदार्थ गर्म और ठंडे होते हैं।
गैलीलियो गैलिली ने विशेषकर एक ‘थर्मोस्कोप’ बनाया था जो तापमान में परिवर्तन का पता लगाने में उपयोग किया जा सकता है।
गैलीलियो के मित्र ‘गियोवन्नी फ्रांसेस्को सगरेडो’ ने पहली बार मात्रात्मक माप के लिए ‘थर्मामीटर’ को एक पैमाने पर लगाया था।     
वर्ष 1612 में आज के आधुनिक थर्मामीटर को इटली के ‘संतोरियो संतोरियो’ ने बनाया था।
वर्ष 1654 में ग्रैंड ड्यूक ऑफ़ टस्कनी, फरडिनैन्ड-II ने शीशे में अल्कोहल भरकर एक थर्मामीटर (Thermometer) बनाया था लेकिन यह उचित तापमान नहीं बताता था।  
थर्मामीटर का आविष्कार 18वीं शताब्दी के शुरुआत में पारा से भरे हुए थर्मामीटर को सबसे पहले ‘डेनियल गेब्रियल फारेनहाइट’ ने वर्ष 1714 में जर्मनी में किया था। 
वर्ष 1843 में ब्रिटिश वैज्ञानिक जेम्स जौले ने थर्मामीटर का उपयोग मैकेनिकल समकक्षों से पानी के तापमान में वृद्धि को मापने के लिए किया था।

थर्मामीटर के प्रकार Types of Thermometer in Hindi-

दोस्तों, थर्मामीटर 2 प्रकार के होते हैं- एनालॉग थर्मामीटर और डिजिटल थर्मामीटर

एनालॉग थर्मामीटर Analog Thermometer- 

शुरु में एक साधारण एनालॉग थर्मामीटर का ही आविष्कार हुआ था। जिसमे एक कांच की नाली में पारा भरा हुआ होता है, जो तापमान के बढने के साथ-साथ कांच की नली में ऊपर चढ़ता है। 
एनालॉग थर्मामीटर (Analog Thermometer) में पारे के स्तर व नली पर अंकित सेल्सियस पैमाने से पता चल जाता है, कि तापमान कितने डिग्री सेल्सियस है।
इस थर्मामीटर का उपयोग करते समय सावधानी रखनी होती है। जिससे की कांच की नली के टूटने का खतरा नहीं हो, क्योंकि इसमें भरा हुआ पारा शारीर के लिए हानिकारक द्रव्य होता है।
डिजिटल थर्मामीटर Digital Thermometer-

डिजिटल थर्मामीटर में तापमान दिखाने के लिए एक डिजिटल डिस्प्ले (Digital Display) होती है। जो तापमान का मान स्क्रीन पर अंकों में दिखा देती है।
डिजिटल थर्मामीटर (Digital Thermometer) में तापमान का पता लगाने के लिए इसके अन्दर सेंसर लगे होते हैं।
डिजिटल थर्मामीटर अनेक प्रकार के होते है। जैसे- एडवांस्ड डायरेक्ट कनेक्ट Adremp V, विक्स बेबी रेक्टल V934, ब्राउन थर्मोस्कैन 5 IRT4520 Ear और एक्सरगेन टेम्पोरल स्कैनर आदि।

थर्मामीटर के उपयोग Uses of Thermometer in Hindi-

  1. शरीर के सामान्य तापमान सीमा का पता लगाने और बुखार की जाँच करने में थर्मामीटर (Thermometer)  की मदद ली जाती है।
  2. विश्व के अनेक हिस्सों में जलवायु की मात्रात्मक तुलना करने में तापमापीयाथर्मामीटर का उपयोग किया जाता है।
  3. हवा, पानी और किसी भी पदार्थ के तापमान की जानकारी थर्मामीटर के द्वारा आसानी से ज्ञात हो जाती हैं।

दोस्तों, तापमापी या थर्मामीटर का आविष्कार और जानकारीThermometer Invention in Hindi में आपने जाना की हमारे जीवन में थर्मामीटर का कितना महत्व है। थर्मामीटरके आविष्कार के बाद दुनिया में तापमान को मापने का यह एक मात्र विश्वसनीय उपकरण बन गया हैं। Thermometer Invention in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *